जानिए क्‍या है जीका वायरस

www.mahharshibadri.com

दुनिया में कई ऐसे देश हैं जो इस वक्‍त जीका वायरस के खतरे में जी रहे हैं. जानिए इसके बारे में:

कई देशों को अपनी चपेट में ले चुका ‘जीका वायरस’ एक ग्लोबल खतरा बनता जा रहा है. इसके खतरे का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि अकेले ब्राजील में 15 लाख लोग इस वायरस के खतरे के दायरे में हैं. जानिए इसके बारे में:

क्‍या है जीका: 

एक वायरस जो एडीज, एजिप्‍टी और अन्‍य मच्‍छरों से फैलता है. ये चिकनगुनिया और डेंगू भी फैलाते हैं.

www.maharshibadri.com

लक्षण: 

बुखार
जोड़ो का दर्द
शरीर पर लाल चकत्‍ते
थकान
सिर दर्द
आंखों का लाल होना

खतरा: 

1. माइक्रोकेफेली : इससे प्रभावित बच्‍चे का जन्‍म आकार में छोटे और अविकसित दिमाग के साथ होता है.
2. ग्‍यूलेन-बैरे: सिंड्रोम शरीर के तंत्रिका तंत्र पर हमला करता है और इसके चलते लोग लकवा का शिकार हो जाते हैं.

चिंता की बात:

1. यह वायरस सबसे पहले अफ्रीका और दक्षिण एशिया के कुछ देशों में मिला था.
2. अभी तक इसकी कोई दवाई मौजूद नहीं है.
3. 40 लोग अकेले अमेरिका में इस खतरे में जिंदगी बिता रहे हैं.
4. 23 देशों में लगातार ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, खासकर दक्षिण अमेरिका में.

कहां-कहां फैला: 

अब इसका फैलाव ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों में हो चुका है. ब्राजील में ऐसा तब हो रहा है जब 6 महीने बाद वहां ओलंपिक होने जा रहे हैं. ब्राजील में विश्व भर से पर्यटकों के आने जाने के कारण वहां से इसके पूरी दुनिया में फैलने का डर है.
ब्राजील के साथ ही पैरागुए, कोलंबिया, वेनेजुएला, फ्रेंच गयाना, सूरीनाम और मेक्सिको, हैती, प्युएर्तो रीको में जीका वायरस का कहर है. जबकि अर्जेंटीना, चिली, बोलिविया, पेरू, एक्वाडॉर, कोस्टा रिका, एल सैल्वडॉर, ग्वातेमाला, होंडूरास, पनामा, में खतरा मंडरा रहा है.

www.maharshibadri.com

 

1947 में हुई थी पहचान:

जीका वायरस की पहचान पहली बार 1947 में हुई थी. जिसके बाद ये कई बार अफ्रीका व साउथ ईस्ट एशिया के देशों के कुछ हिस्सों में फैला था. ताजा हालात पर अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चिंता व्यक्त की है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ये वायरस दक्षिण व उत्तर अमेरिकी महाद्वीपों के लगभग सभी क्षेत्रों में फैल सकता है. अभी तक कैरेबियाई ,उत्तर व दक्षिणी अमेरिका के 21 देशों में ये वायरस फैल चुका है.

बचाव के लिए कारगर उपाय:

ब्राजील में ये वायरस करीब 8 महीने पहले घुसा था. जीका वायरस दुनिया के और हिस्सों में अपने पैर फैला सकता है. हालांकि भारत अभी उसके ठिकाने से दूर दिख रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इससे बचाव के लिए उपाय सुझाए हैं. हम आपको बताते हैं जीका वायरस से बचाव के लिए कारगर पांच उपाय:
1. लैटिन अमेरिकी देशों में एडीज मच्छरों की वजह से जीका वायरस का संक्रमण बढ़ा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार जीका वायरस के संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा उपाय है मच्छरों की रोकथाम.
2. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि मच्छरों से बचने के लिए पूरे शरीर को ढककर रखें और हल्के रंग के कपड़े पहनें.
3. मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए अपने घर के आसपास गमले, बाल्टी, कूलर आदि में भरा पानी निकाल दें.
4. बुखार, गले में खराश, जोड़ों में दर्द, आंखें लाल होने जैसे लक्षण नजर आने पर अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन और भरपूर आराम करें.
5. जीका वायरस का फिलहाल कोई टीका उपलब्ध नहीं है. डब्ल्यूएचओ का कहना है कि स्थिति में सुधार नहीं होने पर फौरन डॉक्टर को दिखाना चाहिए.

mahharshibadri.com

 

 

Published by

Leave a Reply

Your email address will not be published.

X