जानिए एलोवेरा के गुणकारी फ़ायदे

 

maharshibadri.com

एलोवेरा सदियों से एक लोकप्रिय औषधीय पौधा रहा है जो कई तरह से हमारे जीवन में प्रयोग होता ही है। इसके फ़ायदे इतने सारे हैं की आप जानकर हैरान हो जायेंगे। यह त्वचा की बीमारियों से लेकर सूजन, चोट का इलाज करता है और साथ ही यह हमारी ओरल हेल्थ और आंतों के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा होता है। अगर इसकी पॉपुलैरिटी की बात करें तो यह जगज़ाहिर ही है की एलोवेरा ने हाल ही में सौंदर्य की दुनिया में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई है। यह सनबर्न, त्वचा के दाग धब्बों से लेकर लाल चकत्तों, सुस्त त्वचा या शुष्क फ्रिज़ी बाल हो, आपकी त्वचा और बालों की हर एक समस्या का समाधान करने में आपकी मदद करेगा। आपको शायद यह न पता हो की एलोवेरा जैल और एलोवेरा जूस मुँहासे से लड़ने में भी मदद करता है, इसके साथ साथ एलोवेरा का प्रयोग आपके चेहरे के काले धब्बों और झुर्रियों को कम करने में भी किया जाता है। इसके लाभकारी फ़ायदों और चिकित्सीय गुणों के बारे में और जानकारी नीचे दी गयी है।

एलोवेरा क्या है और इसके फ़ायदे क्या हैं ?

maharshibadri.com

एलोवेरा, को वॉन्डर प्लान्ट के नाम से भी जाना जाता है, जो एक छोटे- स्टेम झाड़ी जैसा पौधा होता है। एलो एक जीन है जिसमें 500 से ज्यादा प्रजातियाँ/स्पीसीज होती हैं। एलोवेरा लिलियासी फैमिली का एक कैक्टस रुपी पौधा है। यद्यपि आजकल एलोवेरा के पौधे घर-घर में उगाए जाते हैं और दुनिया भर में उपयोग किए जाते हैं, पर पहले ये पौधे केवल उष्णकटिबंधीय/ट्रॉपिकल और दक्षिणी अफ्रीका, हिंद महासागर के द्वीपों में पाए जाते थे। एलोवेरा का पौधा एक रसीला पौधा होता है, जिसका मतलब है कि यह बिना पानी के भी गर्मियों के गर्म मौसम में बढ़ने के लिए अनुकूलित होता है क्योंकि इसकी पत्तियां इतनी ज्यादा स्टोर कर सकती हैं की बिना पानी के भी यह काफी समय तक रह सकता है। एलोवेरा इतना गुणकारी  होता है की आपकी स्किन के जल जाने पर अगर आप एलोवेरा जूस  लगाते हैं तो यह सिल्वर सल्फाडियाज़िन के मुकाबले 3 दिन पहले जली हुई स्किन का इलाज कर सकता है। एलोवेरा जैल में 12 ऐसे प्राकृतिक पदार्थ होते हैं जो बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के किसी भी प्रकार की जलन को कम कर सकते हैं।

एलोवेरा के फ़ायदे:-

एलोवेरा के अज्वलनशील गुण के कारण ही इसका उपयोग कई कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में किया जाता है। एलोवेरा में 75 पोषक तत्व, 20 खनिज, 12 विटामिन, 18 एमिनो एसिड और 200 सक्रिय एंजाइम होते हैं। इसमें विटामिन ए, बी 1, बी 2, बी 6 और बी 12, विटामिन सी और ई, फोलिक एसिड और नियासिन भी शामिल हैं; इसके साथ साथ कुछ मिनरल्स जैसे – कॉपर, आइरन, सोडियम, कैल्शियम, जस्ता/ज़िंक, पोटेशियम, क्रोमियम, मैग्नीशियम और मैंगनीज भी पाए जाते हैं।

यह लगभग छह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक्स पैदा करता है, जिसमें मोल्ड, बैक्टीरिया, कवक/फंगी और वायरस को समाप्त करने की शक्ति होती है। इस चमत्कारी पौधे में फाइटोकेमिकल्स और अन्य पोषक तत्व भी होते हैं जो आपके बाल, हेल्थ और त्वचा के लिए फायदेमंद (Aloe Vera juice ke Fayde) होते हैं। इसके फायदों (Aloe Vera ke Fayde) के बारे में और विस्तार से जानते हैं:

इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये:

maharshibadri.com

खासकर ठंडे दिनों में आपको अपने इम्यून सिस्टम का विशेष ध्यान रखना चाहिए। एलोवेरा के पोलिसकराइड्स में immunomodulatory और ट्यूमर-को रोकने के गुण होते हैं। दूसरे शब्दों में कहे तो , एलोवेरा जैल   इम्यून सिस्टम को ट्रैक पर वापस लाने में मदद करता है, और एक साथ कैंसर-ट्यूमर को नष्ट कर सकता है। एलोवेरा न केवल इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है, बल्कि यह तंत्रिकाओं को भी मजबूत करता है, ताकि तनाव से बेहतर ढंग से मुकाबला किया जा सके।

पाचन को सही करे, कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करता है और आँतों को साफ करता है:

maharshibadri.com

जब हम बहुत अधिक भोजन खा लेते हैं तो कई बार हमे असुबिधा का सामना करना पड जाता है ऐसे में एलोवेरा  बहुत मदद करता है एलोवेरा के नियमित उपयोग से शरीर के पाचन तंत्र को साफ करने में मदद मिलती है। साफ और शुद्ध एलोवेरा जैल और जूस  पीने से आँतो में सुधार आता है। एलोवेरा के जूस   में प्राकृतिक और डिटॉक्सीफाइंग क्षमता होती है, इसलिए इसके नियमित सेवन से आपकी आंतों में सुधार आता है। एक रिपोर्ट के अनुसार एलोवेरा क्यूरेटिव सिंड्रोम, गैस्ट्रिक अल्सर, क्रॉन रोग और अन्य पाचन विकारों से मुक्ति में मदद करता है। यह यह आपके ब्लड को भी साफ करता है।

स्किन रोगो से लड़ता है:

maharshibadri.com

एलोवेरा त्वचा रोगों से लड़ने में आपकी मदद करता है। फिर चाहे वह मुँहासे, एक्जिमा, डार्माटाइटिस या सोरायसिस हो: एलोवेरा  त्वचा को ठीक करता है। एलोवेरा का जूस ठंडा होता है, जो हमारी स्किन को मॉइस्चराइज करता है और त्वचा की जलन और बीमारियों से छुटकारा दिलाता है। स्किन रोगों के लिए डॉक्टर्स एलोवेरा जूस पीने की सलाह देते है और साथ ही साथ इन्फेक्टेड जगह पर इसे लगाने की सलाह भी दी जाती है।

घाव भरने में मदद करता है :

maharshibadri.com

एलोवेरा जैल में 12 प्राकृतिक पदार्थ होते हैं जो बिना किसी साइड इफेक्ट्स के हमारे घाव भरने के काम आते है। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने घर में एलोवेरा को पौधा या एलोवेरा का जूस हर समय रखें क्योंकि चोट कभी भी लग सकती है। चोट पर एलोवेरा लगाएं, जब एलोवेरा सूखता है, तो यह ऊतक को एक साथ खींचता है, और इस तरह से घाव बंद कर देता है और इसे बैक्टीरिया से मुक्त रखता है। वैसे,एलोवेरा मुंह और मसूड़ों के लिए भी बोहत अच्छा होता है।

जोड़ों के दर्द में सहायक:

maharshibadri.com

अगर आपके जोड़ों में परेशानी है तो यह काफी गंभीर समस्या हो सकती है और यह आपके चलने फिरने में बंधा डाल सकती है, एलोवेरा जैल  जोड़ों के दर्द को कम करता है और मांसपेशी गतिशीलता को बढ़ाता है।

दिल के दौरे को रोकने में सहायक:

maharshibadri.com

Rheumatism और arteriosclerosis दोनों ही बीमारियाँ दिल के दौरे   या स्ट्रोक का कारण बन सकती हैं। एलोवेरा रक्त में अधिक ऑक्सीजन परिवहन करने में सक्षम बनाता है और दिल के दौरे और स्ट्रोक को कम करता है। यह हाई ब्लड प्रेशर को भी कम करता है। यदि आप नियमित रूप से एलोवेरा का रस  पीते हैं, तो आप बीमारी को समय से रोक या कम कर सकते हैं।

झुर्रियों को कम करे:

maharshibadri.com

एलोवेरा आजकल हाई क्वॉलिटी प्रोडक्ट्स में इश्तेमाल किया जाता है क्यूंकि यह त्वचा के लिए एक अद्भुत दवा है। एलोवेरा आपकी रूखी स्किन को मॉइस्चराइज करता है, पोषण देता है और नई त्वचा सेल्स के पुनर्जन्म को तेज करता है। आज हर कोई जवान दिखना चाहता है, एलोवेरा  आपकी स्किन को फ्रेश और जवान रखने में भी बहुत मदद करता है।

दांत और मसूड़ों को हेल्दी बनता है:

maharshibadri.com

एलोवेरा जैल  में दांतों के रोगाणुों से लड़ने की ताकत होती है। एलो लेटेक्स में एंथ्राक्विनोन, यौगिक होते हैं प्राकृतिक रूप से दांतों की परेशानियों को कम करते है और दूर करते हैं।

कब्ज दूर करे:

maharshibadri.com

कब्ज के इलाज के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता है। एलो लेटेक्स के 50-200 मिलीग्राम के खुराक आम तौर पर 10 दिनों तक एक बार तरल या कैप्सूल रूप में लिया जाये तो कब्ज की शिकायत दूर हो जाती है।

एलोवेरा एक नेचुरल इंग्रीडिएंट है जो अपने साथ बहुत से लाभों का एक खजाना लाता है। इसका आनंद लेने का सबसे अच्छा तरीका, इसे अपने रसोईघर, बगीचे या बालकनी में उगायें। एलोवेरा के पौधे की देखभाल करने में बहुत कम समय लगता है, लेकिन उसके बदले में आपको बहुत से लाभ मिलते हैं। तो आगे बढ़ें, और आज ही अपनी हेल्थ को सुधारिये।

 

 

Published by

Comment (1)

  • Maharshi Badri Reply
    August 21, 2018 at 5:13 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.

X